Sunday, 5 June 2016

मारवाङी की तपस्या

एक  मारवाङी की तपस्या से प्रसन्न होकर
भगवान उसको अमृत देते हैं तो
वो मना कर देता है
भगवान - क्यों वत्स..अमृत क्यों नहीं पी रहे.
मारवाङी - मिराज खायोङी हैं बावजी  !!!��������

__________________________

मारवाड़ी हवाई यात्रा मे
एयर होस्टेस---- सर क्या लेंगे... ?मारवाड़ी----नुक्कती...चक्किआ... खाटिछा हैं कई??

एयर होस्टेस---डोपा.....अटे कई
रातीजोगा में आयोडो हें कई...........������ आयो मज़ो