Friday, 23 October 2015

जोधपुर _सिर्फ_हमारा_डायमंड_ह

जोधपुर _सिर्फ_हमारा_डायमंड_है
वो "गर्मीयो" की शाम,
वो " नई सड़क " रो जाम,
वो "किला रोड" री हवा,
वो "गांधी हॉस्पिटल" की दवा,
वो "त्रिपोलिया" की शाँपींग,
वो "पपु चाट" रो " चाट,
वो " चटर पटर" री पानी पूड़ी,
वो " श्रीनाथ" री "पावभाजी,
वो " रमेश मद्रासी" रो डोसा,
वो " ज़िपसी" री थाली,
वो " किम बेकरी "रो केक,
वो " भामाशाह" रो " पान,
वो "रातानाडा संगम टी री चाय,
वो "सूर्या नमकीन"रो शाही समोसो,
वो "चौधरी नमकीन"रो मिर्चीबडो,
वो "रावत" री कचोरी,
वो "चतुर्भुज" रो गुलाब जामुन,
वो "मोहन जी" रो मालपुओ,
वो "शिव गौरी" रो शेक,
वो "मिश्री लाल होटल" री लस्सी,
वो "एस एम् एस स्कूल" के नजारे,
वो "शास्त्री सर्कल के ठंडे" फवारे,
वो "सरदारपूरा" की सडके,
जहा कितने "दिल" धडके,
वो मस्ती की बाते,
एडि ही आपणै "जोधाणे" की "यादे